dhan prapti ke upay

dhan prapti ke upay अचूक अपाय

आज सारी दुनिया dhan prapti ke upay ढूड रही है | हमारे वैदिक ग्रंथों में धन प्राप्ति के अनेक उपाय दिए भी गए हैं | और लोग उनका अनुसरण करके धन प्राप्त कर भी रहे हैं | किन्तु ध्यान रखें केवल मन्त्र जाप से या किसी प्रकार के उपाय करने से धन प्राप्त नहीं होगा उसके लिए साधन भी करना पड़ेगा |

dhan prapti ke upay

कभी-कभी देखने में आता है की लोग साधन भी करते हैं सुचारू रूपसे मेहनत भी करते हैं इसके बाबजूद भी dhan ki prapti नहीं होती | अर्थात जितना परिश्रम करते हैं उनको उतना पारिश्रमिक प्राप्त नहीं होता | कुछ लोग परिश्रम करने के साथ-साथ धन प्राप्ति के उपाय भी करते हैं फिर भी सफल नहीं होते | इन्हीं सभी समस्याओं पर आधारित है लेख |

1 – सर्वप्रथम आप जो dhan prapti ka upay कर रहे हैं क्या वह उपाय आप किताब से पढ़कर कर रहे हैं ? कभी आपने किसी प्रकार की मन्त्र साधन की है ? क्या आप जो धन प्राप्ति का उपाय कर रहे हैं उसकी विधि सही है ? क्या आपने किसी गुरु से मार्ग दर्शन लिया है ? सबसे पहले आपको उपरोक्त बातों पर ध्यान देना चाहिए | यदि आप तंत्र मन्त्र के जानकर हैं तो आपको अवश्य सफलता मिलेगी अन्यथा नहीं मिलेगी | और अक्सर होता भी यही है विधि हीन अनुष्ठान कभी पूरा फल नहीं देते | 

ध्यान देने योग्य विषय-

1 – सर्वप्रथम आप जो धन प्राप्ति का उपाय कर रहे हैं क्या वह उपाय आप किताब से पढ़कर कर रहे हैं ? यदि हाँ है तो आप गलत जा रहे हैं | आज बाजार में आपको अनेक किताबें मिल जाएँगी जिनक शीर्षक होता है रातों रात अमीर बनिए – एक छोटा सा उपाय कीजिए आपके घर में धन बरसेगा | यह सब व्यर्थ है किसी भी प्रयोग को करने के लिए उस प्रयोग से सम्बंधित पूरी जानकारी पाप्त कर लेनी चाहिए तत्पश्चात प्रयोग आरम्भ करना चाहिए |

2 – कभी आपने किसी प्रकार की मन्त्र साधन की है ? यदि आपकी हाँ है तो आपको सफलता अवश्य मिलेगी | और यदि आपने कभी किसी प्रकार की साधना नहीं की है तो आपका प्रयोग त्वरित फलित नहीं होगा | सर्वप्रथम आप धन प्राप्ति का उपाय करने से पहले लक्ष्मी मन्त्र का विधि के साथ पुरश्चरण करें तत्पश्चात आप उपाय करे अवश्य फलित होगा इसमे कोई संदेह नहीं है |

उपाय की विधि सही होना चाहिए-

3 – क्या आप जो उपाय कर रहे हैं उसकी विधि सही है ? वास्तव में मन्त्र हो यन्त्र हो या तन्त्र हो सभी में विधि का अपना विशेष महत्त्व होता है | हर प्रयोग की अपनी अलग विधि होती है | आपके द्वारा किये जाने वाले प्रयोग की विधि यदि सही है तो आपको प्रत्येक प्रयोग का पूर्ण फल प्राप्त होगा | विधि में चूक हो जाने पर आपको कोई फल की प्राप्ति नहीं होगी और यदि आपके प्रयोग तामसिक हैं तो आपको उसका नुकसान भी उठाना पड़ेगा किन्तु सात्विक प्रयोगों में आपको फल भले ही प्राप्त न हो परन्तु नुकसान नहीं होता |

4 – किसी गुरु से क्या आपने मार्ग दर्शन लिया है ? जीवन में गुरु का विशेष महत्त्व है | इसलिए प्रत्येक मनुष्य को गुरु तो बनाना ही चाहिए | और यदि आप किसी प्रकार की साधन करते हैं या कोई उपाय कर रहे हैं तो गुरु की शतप्रतिशत आवश्यकता है | बिना गुरु के मार्गदर्शन के आप किसी साधना में सफल नहीं हो सकते साधना के बारे में अधिक जानने के लिए नीचे दिए लिंक पर जाकर अवश्य पढ़ें |

यदि आप साधन करते हैं तो इसे अवश्य पढ़ें

dhan prapti ke upay में आप लोंगो के लिए लाये हैं शतप्रतिशत प्रमाणित एवं अचूक प्रयोग जिसे करने के बाद आपको निश्चित ही धन की प्राप्ति होगी |

प्रयोग – 1 – कनकधारा स्त्रोत

कनकधारा स्त्रोत का पाठ लक्ष्मी मन्त्र का संपुट लगाकर स्फटिक की माला से करना चाहिए | कनकधारा स्त्रोत पाठ की विधि बहुत ही विस्तृत है उसके लिए हम ( कनक धारा स्त्रोत पाठ विधि ) के नाम से अलग से लेख लिखेंगे |

प्रयोग – 2 – श्री सिद्ध कुंजिका स्त्रोत –(dhan prapti ke upay)

dhan prapti ke upay में यह सर्वश्रेष्ठ एवं सरल उपाय है | किसी भी शुक्ल पक्ष के बुधवार से प्रातः स्नानादि से निर्वृत्त होकर माता लक्ष्मी की पूजा करें तत्पश्चात माता लक्ष्मी के मन्त्र की एक माला जाप करें उसके बाद श्री सिद्ध कुंजिका स्त्रोत का 108 बार जाप करें | जप करने के लिए स्फटिक की माला का प्रयोग करें अच्छा रहेगा यदि आप अभिमंत्रि माला से जाप करेंगे तो | धन प्राप्ति के लिए अकेले लक्ष्मी जी की मूर्ति न रखें लक्ष्मी नारायण की मूर्ति रखकर पूजा करें | उन्हें आप जो स्थान दे रहे हैं वह स्वर्ग जैसा सुंदर और आरामदायक बनायें | किसी भी प्रकार का प्रयोग करने से पहले किसी योग्य गुरु का मार्गदर्शन अवश्य लें तथा पूर्ण श्रद्धा विश्वास के साथ करें सफलता अवश्य मिलेगी |

हर बीमारी का इलाज गारंटी के साथ      

धन प्राप्ति के अनेक उपाय हैं कुछ उपाय ऐसे हैं जो आप आचार्यों से करा सकते हैं आपको शतप्रतिशत लाभ मिलेगा |

1 thought on “dhan prapti ke upay”

  1. Pingback: ayurveda in Hindi - आयुर्वेद के सम्पूर्ण जानकारी आयुर्वेद अपनायें रोग भगायें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top