कन्या लग्न (kanya lagna)

kanya lagna-कन्या लग्न के जातकों का शारीरिक गठन –

यदि आपका जन्म (kanya lagna) कन्या लग्न में हुआ है तो आपके मुख की कान्ति  से स्त्रीवर्गीय स्वाभाव की झलक नजर आएगी | आपके बाहु और कंधे अपेक्षाकृत  छोटे होंगें |

kanya lagna-1

कन्या लग्न के जातकों का स्वभाव –

किस कार्य को कब करना चाहिए उसको आप विशेष रूप से जानने वाले होंगें | आप सत्यबादी तथा न्याय प्रिय दयालु धैर्यवान और स्नेही होंगें |

आपकी बुद्धि सुन्दर होगी परन्तु ब्यौहार मैं किसी दुसरे के सुख दुःख की उपेक्षा नहीं करेंगें | आप दूसरे से काम लेने मैं जरा भी हिचकिचाहट नहीं रखेंगें |

कार्य करने मैं बड़े सावधान और  चौकस होंगें, आप बिना विचार कुछ भी नहीं करेंगें | आपकी दूसरे के कामों मैं छिन्द्रावेशन करने की बड़ी रूचि रहेगी | आप वातों को गुप्त रखने वाले और अपने भाव को दूसरों पर प्रकट नहीं करने वाले अतः वाणिज्य ब्यवसाय में निपुण होंगें |

आप कार्य करने में बिचारवान और तरीका वाले होंगें | आप मितब्ययी सहनशील और बड़े ही दयालु होंगें | आप काम करने में दक्ष धीर और साहशी होंगें | ऐसे जातकों पर उससे अच्छे लोगों की सहायता और संरक्षता होती है |

ऐसे जातक प्रायः अन्य लोगों के पदार्थ और धन को भोगने वाले होते हैं | परन्तु ऐसे जातक कभी कभी स्त्री विलास रसिक और इन्द्रिय लोलुप और विद्वान लोगों से प्रेम करने वाले होते हैं |

कन्या जन्म के कुछ विशेष फल

बुद्धिमती, सुशीला, मिलनसार, उदार, धार्मिक और दानशीला होती है |

सावधानी

आपको अपनी मानसिक अवस्था पर पूर्ण ध्यान रखना चाहिए | पेट जनित रोग प्रायः दुःखदाई होते हैं | अतएव भोजनादि का प्रबंध उत्तम होना चाहिए |

नोट – ध्यान रखें यह स्थूल फलादेश है | जब तक किसी व्यक्ति की कुण्डली का सम्पूर्ण निरिक्षण नहीं किया जाता तब तक सही फलादेश नहीं किया जा सकता | सटीक फलादेश जानने के लिए व्यक्ति की जन्म तारीख, जन्म समय और जन्म स्थान सही होना आवश्यक है |

मेष लग्न का फल    वृषभ लग्न का फल   मिथुन लग्न का फल कर्क लग्न का फल

सिंह लग्न का फल    online पूजा तुला लग्न का फल    वृश्चिक लग्न का फल

धनु लग्न का फल मकर लग्न का फल    कुंभ लग्न का फल      मीन लग्न का फल

इन्हें भी देखें :-

जाने आपको कौनसा यन्त्र धारण करना चाहिए

कैसे कराएँ online पूजा

कौनसा रुद्राक्ष धारण करना चाहिए

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of