दुर्गा सप्तशती पाठ (durga saptashati path)

Rs.5,100.00 Rs.4,500.00

दुर्गा सप्तशती के लाभ से तो कोई भी अनभिज्ञ नहीं है | माता की कृपा के बिना व्यक्ति के कोई भी कार्य सिद्ध नहीं होते | यहाँ तक की शक्ति के बिना तो शिवजी भी शव के समान हैं फिर मनुष्य की गिनती ही कहाँ आती है | कन्या के विवाह में बिलम्ब होने पर, स्त्री वर्ग का लगातार अस्वस्थ रहने पर, घर में स्थाई लक्ष्मी वास के लिए, तथा हर प्रकार की सुख समृद्धि के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ कराना चाहिए

Call to Pandit Rajkumar Dubey (+91 7470 934 089) about this Product.

100% !

Sale!

durga saptashati path – पूरे वर्ष में चार नवरात्रि होती हैं एक वसंत नवरात्रि दूसरी शारदीय नवरात्रि तथा दो गुप्त नवरात्रि होतीं हैं | देवी पुराण के अनुसार दो गुप्त नवरात्रि होतीं हैं जो प्रथम नवरात्रि अषाढ़ में तथा दूसरी नवरात्रि माघ के महीने में होती है | इन दो नवरात्रि के बारे में लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं होती इसी लिए इन्हें गुप्त नवरात्रि भी कहते हैं |

तंत्र शास्त्र की माने तो गुप्त नवरात्रि तांत्रिक सिद्धियों के लिए सर्वोपरि मानी जातीं हैं | देवी के तांत्रिक अनुष्ठान विशेषकर गुप्त नवरात्रि में ही किये जाते हैं | इस समय शीघ्र ही सफलता मिलती है |

durga saptashati path – दुर्गा सप्तशती पाठ के लाभ :-

दुर्गा सप्तशती के लाभ से तो कोई भी अनभिज्ञ नहीं है | माता की कृपा के बिना व्यक्ति के कोई भी कार्य सिद्ध नहीं होते | यहाँ तक की शक्ति के बिना तो शिवजी भी शव के समान हैं फिर मनुष्य की गिनती ही कहाँ आती है | कन्या के विवाह में बिलम्ब होने पर, स्त्री वर्ग का लगातार अस्वस्थ रहने पर, घर में स्थाई लक्ष्मी वास के लिए, तथा हर प्रकार की सुख समृद्धि के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ कराना चाहिए |

आपके द्वारा प्राप्त जानकारी –

जिस व्यक्ति के नाम से अनुष्ठान होना हो उसका नाम, पिता/पति का नाम, गोत्र तथा स्थान | आप अपना पोस्टल एड्रेस निचे दिए Whatsapp नम्बर पर भेजें जिसके माध्यम से आपके पास प्रसाद भेजा जा सके |

कैसे कराएँ यह पूजन –

आप राजगुरु ज्योतिष अनुसन्धान केंद्र में फोन 91 7470934089 कर या Whatsapp  नम्बर 7470934089 पर संपर्क कर पूजन करवाने के लिए समय ले सकते हैं | यह पूजन शुभमुहूर्त देखकर ही आरम्भ की जाएगी | जिसके फलस्वरूप आपको पूरा लाभ प्राप्त हो सके |

जानिये आपको कौनसा यन्त्र धारण करना चाहिए 

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “दुर्गा सप्तशती पाठ (durga saptashati path)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter Your Birth Details

Scroll to Top