Sale!

शुक्र यंत्र

Rs.900.00 Rs.700.00

1)गले से सम्बंधित परेशानी.

2)शराब की लत हो.

3)गुप्तरोग (gupt rog).

4)गर्भाशय की समस्या.

5)मूत्राशय की तकलीफ.

6)डायबिटीज (Diabetes).

7)मासिकधर्म की तकलीफ.

8)त्वचा(skin) रोग.

Category:

Description

shukra yantra शुक्र यन्त्र के फायदे – जिन ब्यक्तियों को गले से सम्बंधित परेशानी रहती हो, या शराब की लत लग गयी हो, किसी भी प्रकार की  गुप्तरोग (gupt rog) की समस्या हो, या हो गर्भाशय की समस्या, मूत्राशय की समस्या हो, डायबिटीज (Diabetes), मासिकधर्म की तकलीफ तथा त्वचा (skin) रोग आदि होने पर यह यंत्र धारण करना चाहिये। क्योंकि उपरोक्त साभी समस्याएं शुक्र के प्रभाव से होतीं हैं | इसलिए  उपरोक्त सभी समस्याओं के निदान हेतु यह यंत्र धारण करना चाहिए |

शुक्र यंत्र किसे धारण करना चाहिये – (Who should wear shukra yantra)- बृषभ एवं तुला राशि वालों को, बृषभ तथा तुला लग्न वालों को, तथा जिनकी शुक्र की महादशा चल रही हो या जिन व्यक्तियों को उपरोक्त किसी भी प्रकार की समस्या हो उनको यह यंत्र धारण करना चाहिये।

Construction of shukra yantra शुक्र यंत्र का निर्माण शुक्रवार के दिन शुक्र की होरा में चंदन, गौलोचन, केशर, तथा हाँथी दांत की स्याही से सोने की कलम से भोजपत्र पर निर्माण किया जाता है  तत्पश्चात प्राण प्रातिष्ठा कर शुक्र यंत्र की विधिवत पूजन करने के बाद तांत्रिक मंत्र का जाप किया जाता है क्योकि किसी यन्त्र को प्रभावशाली बनाने के लिए उस यन्त्र के अधिष्ठित देवता के मन्त्र का जाप करना आवश्यक है | उसेक बाद हवन किया जाता है |

उपरोक्त समस्याओं के लिए आप आपनी पत्रिका का निरिक्षण कराकर शुक्र का रत्न या रुद्राक्ष भी धारण कर सकते हैं | उपरोक्त समस्याओं के लिए आपको छह मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए | छः मुखी रुद्राक्ष मगाने के लिए आप छः मुखी रुद्राक्ष पर किलिक करें |