sun in 10th house (दसवें भाव में सूर्य)

मेष लग्न की कुंडली के दशम भाव में स्थित सूर्य

sun in 10th house – दसवें भाव में अपने शत्रु शनि की राशि पर स्थित सूर्य के प्रभाव से जातक की अपने पिताजी से वैमनस्यता रहेगी, अर्थात विचारों में मत-भेद रहेगा | जिसके कारण पिताजी के सुख तथा सहयोग की प्राप्ति कम ही होगी |

sun in 10th house1

दशम भाव से व्यवासय का भी विचार करते हैं, इसलिए व्यक्ति को व्यवसाय के क्षेत्र में अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा | यदि सूर्य शुभ ग्रहों से दृष्ट होगा तो बाधाओं को पार कर सफ़लता प्राप्त करेंगे |

ऐसे जातकों को राजकीय कार्यों में भी बहुत बाधायें आतीं हैं | और यदि व्यक्ति सरकारी नौकरी करता है तो, उसे अनेक उलझनों का सामना करना ही पड़ेगा | पदोन्नति के लिए अथक परिश्रम करना पड़ेगा | उसेक आये दिन स्थानान्तरण होते रहेंगे |

पंचमेश सूर्य की दशम भाव में उपस्थिति व्यक्ति के मान-सम्मान को ठेश पहुचाने वाली होती है | और ऐसे जातक स्वाभिमानी होने के कारण अपमान सहन नहीं करते | यहाँ तक कि मान सम्मान की खातिर नौकरी तक छोड़ देता हैं |

सूर्य की शनि की राशि में स्थिति विदेशी भाषाओं का जानकर बनाती है | और पंचमेश होने के कारण व्यक्ति दूसरी भाषाएँ अच्छी तरह से और जल्दी सीख जाता है |   

सातवीं दृष्टि से अपने मित्र चंद्रमा की राशि से चौथे भाव को देखने से माताजी का पूर्ण सुख तथा सहयोग प्राप्त करता है | ऐसे जातकों पर माताजी का विशेष प्रेम रहता है |

चतुर्थ भाव से भूमि भवन का भी विचार करते हैं | इसलिए ऐसे व्यक्तियों को  भूमि, भवन का श्रेष्ठ सुख प्राप्त होता है | किन्तु वाहन का सुख होते हुए भी दुर्घटनायें भी बहुत होतीं हैं |  

हाँलाकि ऐसे जातक बुद्धिमान होते हैं | इसलिए ये अपने बुद्धि बल से राज्य तथा व्यवसाय के क्षेत्रों में सफलताएं प्राप्त कर ही लेते हैं |

दशम भाव में स्थित सूर्य के उपाय – sun in 10th house

  • ऐसे व्यक्तियों को बिना सर ढके पूजन नहीं करना चाहिए |
  • किसी मंदिर के निकट पानी की व्यवस्था करनी चाहिए |
  • तांवे के वर्तन में पानी पीना अच्छा रहता है |
  • शनिवार को काले वस्त्र धारण न करें | हो सके तो काले रंग से परहेज करें |

जानिये आपको कौनसा यन्त्र धारण करना चाहिए

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of