मेष लग्न (mesh lagna)

mesh lagna – मेष लग्न के जातको का शारीरिक गठन –

यदि आपका जन्म मेष लग्न (mesh lagna) मैं हुआ है तो आपका शारीर प्रायः दुर्बल होना चाहिए | आपकी गर्दन अपेक्षाकृत लम्बी होनी चाहिए | बाल प्रायः घुंघराले होना चाहिए | आखें गोल ठेहुने दुर्बल होने चाहिए |

mesha-lagna-1

मेष लग्न के जातकों का स्वभाव –

आप स्वाभाव से कड़े, झगड़ालू, कुछ अंश मैं दम्भी, स्पष्ट वक्ता, साहसी, वीर, उद्धमी, और  सतत किसी न किसी कार्य में संलग्न रहने वाले होंगें |  आपको बाल्यकाल  में अनेक हानियों का सामना करना पड़ेगा |

आप स्वतंत्रता प्रिय और उदार प्रकृति के होंगें | और ऐसा विश्वास हो जाने पर कि किसी मनुष्य को सहायता की आवश्यकता सचमुच में है, तो उसको सहायता देने में आप प्राण पद से लग जायेंगें | आप कार्य संपन्न करने में निर्भय एवं निःसंकोच रहेंगें |

आप उच्चपदाभिलाषी तथा सद्गुण विशष्ट होंगें | आपकी संपत्ति प्रायः स्थिर रहेगी | आप यात्रा प्रिय और प्रायः अल्पहारी होंगें | आपके शरीर में किसी स्थान पर व्रणादि के चिंन्ह भी होने चाहिए |

कन्या जन्म के कुछ विशेष फल

मेष लग्न में जन्म लेने वाली कन्या सच बोलने वाली, साफ सुथरा रहना पसंद करने वाली, कठोर चित्त, बदला लेने में तत्पर, कभी कभी कठोर शब्दों का प्रयोग करने वाली, बात की बात में क्रोध करने वाली, कफ प्रकृति और अपने स्वजनो से प्रीत करने वाली होती है |   

सावधानी  –

आपको सोने (नींद) में कमी नहीं करनी चाहिए | अर्थात शारीरिक और मानसिक विश्राम पर पूर्ण ध्यान देना अनिवार्य है | आपको मस्तिष्क की रक्षा हर प्रकार से करनी चाहिए | साधारण ब्यायाम और स्वच्छ वायु का सेवन आपके लिए आवश्यक है |

नोट – ध्यान रखें यह स्थूल फलादेश है | जब तक किसी व्यक्ति की कुण्डली का सम्पूर्ण निरिक्षण नहीं किया जाता तब तक सही फलादेश नहीं किया जा सकता | सटीक फलादेश जानने के लिए व्यक्ति की जन्म तारीख, जन्म समय और जन्म स्थान सही होना आवश्यक है |

इन्हें भी देखें :-

जानिए आपको कौनसा यंत्र धारण करना चाहिए ?

जानें कैसे कराएँ ऑनलाइन पूजा ?

श्री मद्भागवत महापूर्ण मूल पाठ से लाभ

क्या है गजकेशरी योग (Gaja Kesari yoga)

क्या कहती है आपकी गुरु गोचर रिपोर्ट (guru gochar )

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Call Now Button