dhanu rashi yantra-धनु राशि यन्त्र

Rs.949.00

यदि आपको मान सम्मान की प्राप्ति नहीं हो रही है, व्यापर में अच्छी सफलता नहीं मिल रही है, कहीं भी बोलने में संकोच लगता हो, मन निराश होता हो, मन अशांत रहता हो, मोटापा बढ़ रहा हो, पैरों में दर्द रहता हो, आपके मित्र और परिवार वालों से प्रेम न मिलता हो, व्यय अधिक होता हो, बुद्धि उपयुक्त समय पर काम न करती हो या धन की कमी महसूस कर रहे हों, गैस की समस्या होने पर, या उच्च शिक्षा प्राप्त न कर पा रहे हों यदि उपरोक्त समस्याओं में से कोई भी समस्या हो तो आपको धनु राशि यंत्र धारण करना चाहिए |

Call to Pandit Rajkumar Dubey (+91 7470 934 089) For Free Consultation about this Product.

100% प्राण प्रतिष्ठित !

Sale!

धनु राशि यन्त्र

dhanu rashi yantra – धनु राशि कुदरती कुंडली की नवमी राशि मानी जाति है | यह राशि अग्नि तत्व वाली है | इस राशि वालों में न्याय और ज्ञान के गुण पाए जाते हैं | ऐसे जातक ईश्वर भक्त, उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले, कानून के जानने वाले तथा इनके ह्रदय में ममता का सागर होता है | इस राशि वाले सत्यवादी, साफ़-साफ बातें करने वाले, अद्ध्यात्मवादी, धीरज धारण करने वाले, आत्म विश्वास से परिपूर्ण और कुछ क्षत्रिय गुण भी पाए जाते हैं | ये संशोधन करने वाले, ईश्वर के दर्शन की इच्छा रखने वाले, दुनिया को अच्छा ज्ञान देने वाले, अच्छे सलाहकार, योग्य गुरु, योग शिक्षक, ध्यान धारणा सिखाने वाले और वेद-शास्त्रों के जानने वाले होते हैं |

धनु राशि और स्वास्थ (dhanu rashi yantra)

इस राशि वालों को विशेषकर मोटापा बढ़ने का भय रहता है | इन्हें शक्कर की मात्रा बढ़ने से होने वाली बीमारियों से सावधान रहना चाहिए | बड़े फोड़े, सूजन, हाथी रोग (इस रोग में पैर में बहुत अधिक सूजन आ जाती है), ट्यूमर, पैर या कमर की बीमारियाँ, कान से सम्बंधित बीमारी, असिडिटी और कैंसर जैसी बीमारियों से सावधान रहना चाहिए |

धनु राशि वालों के गुण

इस राशि वाले जातक विद्वान्, धार्मिक प्रवृत्ति के, राजसम्मानित, जनता के प्रिय, सभा में व्याखान देने वाले, परिवार एवं ग्राम में श्रेष्ठ पद प्राप्त करने वाले, पवित्र मन के, काव्य कुशल और कुल के दीपक होते हैं | ये बड़े ही भाग्यवान, दानी, साहसी, सच्ची मित्रता करने वाले, निष्कपट विचार रखने वाले, विनीत स्वाभाव तथा दयावान होते हैं |

इन्हें स्पष्ट बोलने की आदत होती है ये क्लेश सहन करने वाले, शांत स्वाभाव, तपस्वी, अल्प भोजी किन्तु बली, निर्मल बुद्धि, मधुर बोलने वाले, मितव्ययी, धनी, अपने कार्य में तत्पर, प्रेम में वशीभूत होने वाले, फुर्तीले और कुशल भविष्य वक्ता होते हैं | ऐसे व्यक्ति बल प्रयोग से किसी के वश में नहीं जा सकते परन्तु प्रेम के वश में होकर कुछ भी कर सकते हैं | ये अनेक कारीगरी और कलाओं में प्रवीन होते हैं तथा कई प्रकार के व्यवसायों में हाँथ डालने वाले होते हैं | ये जातक नौकरी से उन्नति नहीं कर पाते |

धनु राशि यंत्र धारण क्यों करें

यदि आपको मान सम्मान की प्राप्ति नहीं हो रही है, व्यापर में अच्छी सफलता नहीं मिल रही है, कहीं भी बोलने में संकोच लगता हो, मन निराश होता हो, मन अशांत रहता हो, मोटापा बढ़ रहा हो, पैरों में दर्द रहता हो, आपके मित्र और परिवार वालों से प्रेम न मिलता हो, व्यय अधिक होता हो, बुद्धि उपयुक्त समय पर काम न करती हो या धन की कमी महसूस कर रहे हों, गैस की समस्या होने पर, या उच्च शिक्षा प्राप्त न कर पा रहे हों यदि उपरोक्त समस्याओं में से कोई भी समस्या हो तो आपको धनु राशि यंत्र धारण करना चाहिए |

यह यंत्र किसे धारण करना चाहिए (dhanu rashi yantra)

यदि आपका जन्म धनु राशि में हुआ है और ऊपर बताये गए गुण आपमें नहीं हैं अर्थात आपके ऊपर उपरोक्त बातें लागू नहीं होतीं तो निश्चित है कि आपको शुभ फल प्राप्त नहीं हो रहा है | इसलिये आपको उपरोक्त सुख प्राप्त नहीं हो रहे हैं | ऊपर बताये गए सभी सुख आपको प्राप्त हो इसलिये आप सभी धनु राशि वालो के लिए भोजपत्र पर निर्मित यह धनु राशि यन्त्र धारण करना चाहिए |

धनु राशि कवच कैसे बनाया जाता है

इस यंत्र का निर्माण शुभ मुहूर्त में धारण करने वाले जातक के नाम, गोत्र, स्थान आदि के उच्चारण के साथ शुभ होरा में, शुभ घडी में तैयार किया जाता है | इसमे उपयुक्त होने वाले द्रव्य चंदन, गौलोचन, केशर, तथा हल्दी की स्याही से सोने की कलम से भोजपत्र पर निर्माण किया जाता है । तत्पश्चात प्राण प्रातिष्ठा कर धनु राशि कवच की विधिवत पूजन करने के बाद तांत्रिक मंत्र का जाप किया जाता है | उसके बाद हवन किया जाता है | हवनोपरांत यंत्र को ताबीज में वेष्टित किया जाता है |

यंत्र मंगाने की विधि – जिस व्यक्ति के लिए यन्त्र धारण करना है, उस व्यक्ति का नाम, पिता/पति का नाम तथा गोत्र एवं वर्त्तमान स्थान तथा अपना पोस्टल एड्रेश हमारे  (7470 9 3408 9) Whatsapp नम्बर पर भेजें | यन्त्र निर्माण के बाद आपके दिए पते पर पोस्ट ऑफिस द्वारा भेज दिया जायेगा |

यह यंत्र यदि आप धारण नहीं कर सकते हैं तो आप इसे अपने पर्स में या व्यापार स्थल में भी रख सकते हैं |

जानिए आपको कौनसा यंत्र धारण करना चाहिए ?

जानिए कैसे कराएँ ऑनलाइन पूजा ?

श्री मद्भागवत महापूर्ण मूल पाठ

1 review for dhanu rashi yantra-धनु राशि यन्त्र

  1. Pandit Rajkumar Dubey

    Really works

Add a review

Your email address will not be published.

Enter Your Birth Details

Call Now Button